Navratri dussehra 2018-नवरात्रि के बाद क्यों मनाया जाता है दशहरा?

“Navratri dussehra 2018” – नवरात्रि के बाद आखिर क्यों मनाया जाता है “दशहरा”

शारदीय नवरात्रि के नौ दिन पूरे हो जाने के बाद दसवें दिन यानि की दशमी को दशहरा मनाया जाता है।

कहा जाता है कि नौ दिनों तक भगवान श्री राम ने नौं देवियों की पूजा अर्चना की थी जिसके बाद दसवें दिन

श्री राम ने दुष्ट रावण का वध कर बुराई पर अच्छाई की जीत का एक उदाहरण समाज के सामने रखा था।

“दशहरे के त्योहार” की बात की जाए तो मान्यता है कि बुराई चाहे कितनी भी बड़ी क्यों न हो

लेकिन अच्छाई के आगे एक न एक दिन घुटने टेक ही देती है।

“Navratri dussehra 2018”

यही कारण रहा कि शारदीय नवरात्रि के पूरे हो जाने के बाद दसवें दिन दशहरा मनाया जाता है।

भारत में दशहरे का त्योहार बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

इस दिन रावण का पुतला बनाकर जलाया जाता है और कई जगहों पर बड़े मेले और

रामलीला का आयोजन भी किया जाता है।

दशहरे के दिन लगने वाले मेले पर हर कोई रावण का पुतला फूंकते हुए देखने आता है।

रावण के साथ-साथ उनके दोनों भाई कुंभकरण और मेघनाथ का पुतले का भी दहन किया जाता है।

“Navratri dussehra 2018”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!